dividend kya hota hai or ye kaise kaam karta hai

dividend kya hota hai or ye kaise kaam karta hai

What is a dividend and how does it work

एक टाइम पर दुनिया के सबसे अमीर इंसान john d rockefeller ने कहा मुझे बस एक ही चीज खुशी देती है और वह है अपने dividend को आते हुए देखना

दुनिया के सबसे बड़े investor warren buffett को coca cola company से लास्ट ईयर 2700 करोड़ रुपए सिर्फ dividend से मिले

तो आखिर क्या होता है dividend कोनसी कम्पनिया dividend देती है और ये हमे कैसे मिल सकता है आजके इस आर्टिकल मैं हम यही तीन बातो पर चर्चा करेंगे

तो चलिए अब जानते हैं की क्या होते हैं डिविडेंड (So let’s now know what the dividend is?)

हमने share market वाले आर्टिकल में लिखा हुआ है की share खरीदने पर प्रॉफिट हमे बस दो तरह से ही होते हैं सबसे पहला ख़रीदे हुए share को बढे हुए प्राइस पर बेचकर और दूसरा dividend से

दोस्तों dividend को हिंदी मैं लाभांश कहते हैं इसके दो शब्द होते हैं पहला लाभ और दूसरा अंश लाभ को हम प्रॉफिट कहते हैं और अंश को हम पार्ट कहते हैं तो dividend का मतलब हुआ प्रॉफिट का पार्ट यानि हिस्सा

हर प्रॉफिटेबल कंपनी के पास दो चॉइस होते हैं

यातो वो अपने पुरे प्रॉफिट को अपने बिज़नेस मैं लगाने के लिए अपने पास रख लें या प्रॉफिट का कुछ पार्ट यानि हिस्सा रखकर बचा हुआ प्रॉफिट अपने shareholders  के बीच बाँट दें

दोस्तों प्रॉफिट का यही हिस्सा जो कंपनियां अपने shareholders के बीच बांट देती है dividend कहलाता है

आइये इसे एक एक्साम्पल से समझते हैं मान लेते हैं एक कंपनी को साल 2018 में 100 करोड़ रुपयों का प्रॉफिट होता है और यह कंपनी डिसाइड करती है कि वह हर सेल पर ₹5 का dividend देगी और बचे हुए प्रॉफिट को अपने बिजनेस में लगाएगी तो अगर आपके demat account में इस कंपनी के 1000 share हैं तो आपको dividend ₹5000 मिलेगा

चलिए आप जानते हैं कि कौन-कौन सी कंपनियां डिविडेंड देती है (Let us know which companies give dividend)

हमेशा वैसी ही कंपनियां dividend देती है जो प्रॉफिट में होती है घाटे में रहने वाली कंपनी कभी dividend नहीं देती dividend ज्यादातर ऐसी कंपनियां ही देती है जो बहुत बड़ी और नेचुरल हो चुकी होती है

क्योंकि जब कंपनियां नई होती है और अपने बिजनेस को एक्सपेंड करने के दौर में होती हैं तो वो अपने सारे प्रॉफिट को अपने बिजनेस के एक्सटेंशन में ही लगाना चाहती हैं क्योंकि कंपनियों को पता होता है कि आज के प्रॉफिट को बिजनेस में लगाकर फ्यूचर में कहीं ज्यादा प्रॉफिट कमा सकते हैं

और इसमें फायदा investor का ही होता है क्योंकि कंपनियां जब तक अपने प्रॉफिट को सही जगह लगाकर अपना बिजनेस बढ़ाती जाएगी और उसका प्रॉफिट भी बढ़ता जाएगा और प्रॉफिट बढ़ने से हमें दो फायदे होंगे एक तो share हमने जो खरीदे हैं उनकी प्राइस बढ़ेंगे और दूसरा अगर भविष्य में कंपनी dividend देने का डिसीजन लेती है तो वो आजके dividend से बहुत ज्यादा होगा क्योंकि प्रॉफिट भी आप से कहीं ज्यादा बढ़ चुका होगा

दोस्तों ध्यान देने वाली बात यह है कि dividend देना या ना देना यह कंपनी के डायरेक्टर डिसाइड करते हैं अगर उन्हें लगता है कि वह प्रॉफिट का इस्तेमाल बिजनेस को बढ़ाने मैं कर सकते हैं तो वो dividend नहीं देते हैं और यदि उन्हें लगता है कि बिजनेस को बढ़ाना थोड़ा मुश्किल है तो वो प्रॉफिट का हिस्सा और dividend अपने shareholders  के बीच बांट देते हैं

चलिए अब जानते हैं कि हमें डिविडेंड कैसे मिल सकता है (Now let us know how we can get the dividend)

हमने जाना कि डिविडेंड एक प्रॉफिटेबल और एक मजबूत कंपनी ही देती है तो अगर हमें डिविडेंड चाहिए तो हमें ऐसी कंपनी के share खरीद करके रखने होंगे जो लगातार डिविडेंड देती है और ऐसी कंपनी की लिस्ट आपको google पर सर्च करने से बोहोत आसानी से मिल जाएगी लेकिन दोस्तो डिविडेंड लेने के लिए कुछ डेट्स होती है जिनको हमें बहुत ध्यान में रखना पड़ता है

सबसे पहले हैं रिकॉर्ड डेट (First is the record date)

रिकॉर्ड डेट उस डेट को कहते हैं जिस डेट को आपका नाम कंपनी के रिकॉर्ड में जैसे एक shareholders होना चाहिए डिविडेंड देने वाली कंपनी रिकॉर्ड डेट को पब्लिक मैं अनाउंस करती है अगर आपका नाम रिकॉर्ड डेट की इन कंपनी के shareholders लिस्ट में नहीं है तो आपको उस टाइम का डिविडेंड नहीं मिलेगा

दूसरा होता है एक्स डिविडेंड डेट (The second is x dividend date)

एक्स डिविडेंड डेट जर्नली रिकॉर्ड डेट के बस 1 दिन पहले होता है कोई भी कंपनी जैसे रिकॉर्ड डेट अनाउंस करती है तो एक्स डिविडेंड डेट उसके 1 दिन पहले सेट हो जाता है अगर हमें किसी भी कंपनी के डिविडेंड चाहिए तो हमें उस कंपनी के share को एक्स डिविडेंड डेट से पहले खरीदना होता है और अगर हम share को एक्स डिविडेंड डेट के पहले तक नहीं खरीदते तो हमें उस टाइम का डिविडेंड नहीं मिलेगा

दोस्तों कंपनियों साल में कितनी बार भी डिविडेंड दे सकती है और हर बार कंपनी एक रिकॉर्ड डेट अनाउंस करती है ताकि पब्लिक को पता चल सके कि अगर उन्हें डिविडेंड लेना है तो कब तक share को खरीदना होगा

तो दोस्तों यह था आज का हमारा आर्टिकल डिविडेंड के ऊपर इसमें हमने जाना कि डिविडेंड प्रॉफिट का एक हिस्सा होता है एक मजबूत और प्रॉफिटेबल कंपनी ही डिविडेंड देती है और अगर हमें किसी भी कंपनी का डिविडेंड लेना है तो हमें उस कंपनी के share को एक्स डिविडेंड डेट के पहले खरीदना होगा

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल समझ आया है तो इसको अपने सभी दोस्तों के साथ साझा करे

BSE और NSE क्या होता है और ये कैसे काम करता है

Leave a Reply